देसी नंगी चुदाई

हिंदी में छोडा छोड़ी

हिंदी में छोडा छोड़ी, मम्मी ने जब अपना सामान खोल कर उनके लिए गिफ्ट आइटम निकाले थे ,मम्मी की पहनी हुयी पैंटीज ,घिसी हुयी साड़ियां , तो उसी के साथ इन्हें एक एम्ब्रायडरी की किताब ,नीडल,क्राचेट सब ले आयीं थी। मैने कहा इसकी क्या ज़रूरत थी भाभी तो वो बोली पी लो आज बड़ी मेहनत करवानी है तुमसे मैने कहा इतना दम तो है मेरे अंदर भाभी पर तुम संभलना कही बीच रास्ते मे ना छोड़ देना तो वो मेरे साथ ही रज़ाई मे आ गयी मैं दूध पीने लगा और उसने अपने हाथ मे मेरा लंड ले लिया वो बोली तुम्हारा मूसल तो बड़ा गजब और कड़क है

मेरा पूरा लंड चूत के अंदर गायब हो चुका था और मैने धीरे धीरे गीता को चोदना शुरू किया तो वो भी अब रंग मे आने लगी. बस प्रोग्राम मे दो दिन ही थे तो मेहमान आने ही थे तो तभी पता चला कि बड़े मामा भी छुट्टी आ गये है तो अब सबसे ही दुआ सलाम होनी थी ऐसे ही शाम हो गयी बड़ी मामी से नज़रे भी मिली पर उनकी तरफ से कुछ रेस्पॉन्स नही आया मुझे

और ये उन्होंने खुद बताया था बचपन में एक टीचर थीं , ३५ -३६ की उम्र रही होगी , उनके क्लास में वो हमेशा खूब तैयारी करके जाते थे , सवाल के जवाब में सबसे पहले वो हाथ उठाते थे। हिंदी में छोडा छोड़ी कनखियों से अब वो उधर देख रहे थे और नतीजा ये हुआ की उनका खूँटा एकदम तना,साफ़ साफ़ दिख रहा था। उन्होंने मम्मी की एक पुरानी घिसी हुयी सी साडी लुंगी बना के पहन रखी थी ,जो उनके 'उसे ' रोकने में एकदम नाकमयाब थी।

रोमांटिक सेक्सी लड़की

  1. जिस की वजह से शाज़िया की भारी मोटी गान्ड की पहाड़ियो में पोषीदा शाज़िया की गान्ड की मोरी नीलोफर की नज़रों के समाने पूरी तरह नंगी हो गई.
  2. तीन खेतो मे पानी देना था मैने टॉर्च ली और चल पड़ा देखने की पानी की सप्लाइ मे कोई रुकावट तो नही है इस काम मे आधा घंटा से भी ज़्यादा समय लग गया और उपर से ठंड भी कड़ाके दार हालाँकि स्वेटर पहनी हुई थी पर पैर तो गीले ही थे बड़ा ही बुरा हाल हो गया मेरा कंपकंपी चढ़े वो अलग से, पर काम तो करना ही था বাংলা থ্রি এক্স মুভি
  3. इस लिए अपनी बेहन का प्लान सुन कर उसे भी यकीन हो गया कि अगर उन की किस्मत ने साथ दिया तो वो एएसआइ ज़ाहिद से छुटकारा हाँसिल कर सकते हैं. और थोड़ी देर में हम दोनों साथ बैठे हुए थे , मैं उनकी गोद में , जोर से हम दोनों एक दूसरे को बाँहों में भींचे हुए , बड़ी देर तक बिना कुछ बोले ,
  4. हिंदी में छोडा छोड़ी...ये तो अब फ्लाइट मिलने पर है कि कब वापसी होती है,वैसे अम्मी तो कह रही थी कि में कल ही घर वापिस आ जाऊं शाज़िया ने जवाब दिया. और लेडीज भी ज्यादातर ,वाइन्स कुछ तो हार्ड ड्रिंक्स भी , बस दो चार सॉफ्ट ड्रिंक्स वाली थीं , जिनमें मैं भी थी।
  5. जब कि कभी कभी जमशेद अपनी बेहन नीलोफर को एएसआइ ज़ाहिद के पास अकेला छोड़ कर चला आता. और एएसआइ ज़ाहिद नीलोफर के साथ मज़े कर के उसे घर के पास वापिस उतार जाता. देख मेरी सास भी ऐसी ही , तुझे देख देख के गर्माती होंगी , अब तो मम्मी ने बोल दिया है , तो मुन्ना , तेरे तो मजे हो गए , ऐसी मस्त भोसड़ी वाली मिल गयी , है न , बस सास की बात मान , मेरी सास तुझे पक्की मिल जायेगी ,...

কুমারী মেয়ের সেক্স ভিডিও

,... लेकिन तुझे पहले खाना पीना पडेगा ,गीता का , सब कुछ ,... लेकिन घबड़ाओ मत हम दोनों रहेंगे न ,एकदम हाथ पैर बाँध के , जबरदस्ती ,...

शाज़िया के स्कूल आने के बाद नीलोफर ने उस से बात करने की कोशिश की. मगर शाज़िया के दिल में नीलोफर के लिए गुस्सा अभी तक भरा हुआ था. इसीलिए शाज़िया ने नीलोफर को ज़रा भी घास ना डाली और उसे मुकम्मल नज़र अंदाज़ कर दिया. बस ये थी अपनी कहानी, बाकी दिल तो आज भी बस मिता के लिए ही धड़कता है निशा भी ये बात जानती है तो बस जी रही है अपनी अपनी उलझनों को सुलझाने की क़ोस्शिस मे और भी कई छोटी-मोटी बाते थी पर लगता है कि उनका जिकर करना बेमानी ही होगा

हिंदी में छोडा छोड़ी,आज काफ़ी अरसे के बाद शाज़िया ने किसी मर्द के लंड को छुआ था. और भाई के लंड को छूते ही शाजिया को भाई के लंड की सख्ती और उस की तपिश का अंदाज़ा हो गया था.

टी ,टाप ,फ़्राक जो भी वो पहने उससे बस रगड़ते रहें ,हलके हलके झलकते रहें। नैन्सी ने बोला था न की अगर वो हलके हलके भी कपड़ों से रगड़ेंगे तो बस ,सोच ले ३२ सी पर एक इंच के निप्स , टाप्स से झलकते ,...लौंडो का तो उसे देख के ही टनटना जाएगा। क्यों है न, ...

मैं- मैं, जानता हूँ आप क्या कहना चाहते है , मैं हर चीज़ समझता हूँ , वहाँ से घर जाते ही मैं मम्मी से बात करूँगा और पूरी कोशिश करूँगा कि सब ठीक हो जाए.ઇન્ડિયા સેક્સ વીડિયો

उसी दिन दोपहर के तक़रीबन 1 बजे का वक्त था. जुलाइ के महीने होने की वजह से एक तो गर्मी अपने जोबन पर थी. और दूसरा बिजली की लोड शेडिंग ने साब लोगो की मूठ मार रखी थी. घबड़ाने की कोई बात नहीं है , मैं हूँ न। बस जैसे जैसे मैं कहूँ , बस वैसे वैसे , सब सीख जाओगे। बहू को जवाब नहीं देना चाहिए, उसकी आवाज नहीं सुनाई देनी चाहिये , सब तौरतरीका… सब काम घर का , जिम्मेदारी से ,कल सुबह से , … बेड टी मुझे कैसी पसंद है तुझे तो मालूम ही है ,

आसमान में तो वैसे ही चांदनी और बादलों का लुकाछिपी का खेल चल रहा था ,गली में कुछ कमजोर लैम्पपोस्ट के बल्ब , कमजोर हलकी पीली रोशनी से स्याह अँधेरे को हटाने की नाकामयाब कोशिश कर रहे थे ,

ज़ाहिद के इस तरह चिपकने से ज़ाहिद का मोटा सख़्त लंड शाज़िया की गुदाज गान्ड की मोटी पहाड़ियों में से होता हुए उस की चूत से टच करने लगा.,हिंदी में छोडा छोड़ी शाज़िया को भी कुछ दिन से स्मार्ट फोन लेने का शौक चढ़ा हुआ था. चूँकि स्मार्ट फोन प्राइस में काफ़ी मेह्न्गे थे. इस लिए वो चाहने का बावजूद अपनी अम्मी या भाई से नया स्मार्ट फोन लेना का नही कह पाई.

News