தமிழ் செஸ் ஓபன்

ब्राझीलचा नकाशा मराठी

ब्राझीलचा नकाशा मराठी, मैं बताती हूँ तुझे अपने पिता ने अपनी गोद में क्यों बिठाया था क्योंकी उन्हें अपनी बेटी का जिस्म अच्छा लगने लगा था और वह तेरे जिस्म का पूरा मजा लेना चाहते थे रेखा ने कंचन का जवाब सुनकर हँसते हुए कहा । माँ यह आवज़ कहाँ से आ रही है विजय ने अपनी माँ की चूत में अपना लंड आने जाने की वजह से होने वाली आवाज़ सुनकर अपनी माँ से कहा ।

विजय ने देखा कि कंचन दीदी गाण्ड हिला रही थीं और कोमल भी अपने बदन को सहला रही थी कि तभी कोमल और दीदी दोनों एक-दूसरे के पास आए और लिप किस करने लगीं। दीदी आप सच में बुहत अच्छी हो विजय शीला की बात सुनकर खुश होते हुए बोला और अपने दोनों हाथों को आगे बढाते हुए शीला की दोनों गोरी चुचियों को पकड लिया।

ओहहहह डॉ जी मेरी चूत में ही छूटना मैं भी आने वाली हू रेखा ने रवि की बात सुनकर ज़ोर से अपने चूतडों को पीछे की तरफ धकेलते हुए बोली। ब्राझीलचा नकाशा मराठी रेखा ने अपने ससुर के सामने से अपनी गांड को मटकाते हुए सोफ़े की तरफ जाते हुए कहा बापु जी मैंने कहा न आपकी गलती नहीं है, अब आप सुबह सुबह अपनी बहु के बड़े बड़े ताज़े आम देख लोगे तो गरम तो होंगे ही ।।।। अनिल मन ही मन में सोचने लगा साली दिखने में बुहत सीधी है मगर लगता है बुहत बड़ी छिनाल है।

ப்ளூ பிலிம் பிட்டு

  1. कंचन ने झरते वक्त अपने दोनों हाथों से अपने भाई के बालों को पकडकर अपनी चूत पर दबा दिया । कंचन की चूत से जाने कितनी देर तक पानी निकलता रहा। विजय जितना हो सकता था । अपनी कुंवारी सगी बहन का पानी चाट लिया और बाकी का उसके मुँह पर लग गया।
  2. बेटे बस अभी इंजेक्शन लगा देता हुँ फिर आप अपनी माँ को ले जा सकते हो रवि ने इंजेक्शन उठाते हुए विजय से कहा और वापस अंदर चला गया । रेखा डॉ को देखकर उलटी होकर वहीँ पर लेट गई। देवास का सेक्सी वीडियो
  3. विजय पूरी तरह झरने के बाद अपनी बहन के ऊपर ढेर हो गया और उसका लंड सिकूड़ कर उसकी बहन की चूत से निकल गया । विजय का लंड निकलते ही कंचन की चूत से उसका और विजय का मिला जुला वीर्य बेड पर गिरने लगा, कंचन ने अपने होंठ अपने भाई की जीभ से हटा लिए थे और वह बुहत ज़ोर से हांफ रही थी । विजय शीला के चूतडो को पकडकर उसे बुहत ज़ोर से पेलने लगा । कंचन और नरेश वैसे ही लेते हुए उन दोनों की तरफ देख रहे थे।
  4. ब्राझीलचा नकाशा मराठी...हाँ एक साथ वह भी दिन में सालों ने बाप का माल समझ रखा है देखा नहीं और अपना लंड खडा करके चोदने लगते हैं। देखो क्या हालत कर दी है उन दोनों ने मेरी चूत की रेखा ने अपने पति की तरफ सीधी होकर अपनी सूजी हुई चूत को उसे दिखाते हुए बोली । रूबी: देख कितना कमजोर सा हो गया है एक हफ्ते के अंदर ही, बेटे तुम वहां ठीक से खाना नहीं खाते हो क्या ?
  5. ठीक हैं मैं मना नहीं करूंगी लेकिन अभी इसे आप भी अपने पास रखे। जब मुझे जरूरत होगी मैं खुद आपसे ले लूंगी। ‘हाँ मज़ा तो बहुत आया… पर शुरू में दर्द भी बहुत हुआ… मुझे तो लग रहा था कि मैं अब मरने वाली हूँ… पर फिर वो मज़ा आया जिसके सामने ये दर्द कुछ भी नहीं…’

सेक्सी वीडियो फुल एचडी बीएफ हिंदी

ओहहहह भैया घुसेडो पूरा मुझे चोद चोद कर अपनी गुलाम बना लो कंचन ने अपने भाई के ज़ोर के धक्कों से बुरी तरह हाँफते हुए कहा।

पगली डर किस बात का तुम्हें अपने भाई पर भरोसा नहीं? विजय ने अपने लंड को वैसे ही अपनी छोटी बहन की चूत पर ऊपर से नीचे तक घिसते हुए कहा। विजय का जिस्म कुछ देर में अकडने लगा और उसने जल्दी से अपना लंड शीला के मूह में घुसा दिया और अपना लंड तेज़ी के साथ उसके मुँह में अंदर बाहर करने लगा।

ब्राझीलचा नकाशा मराठी,नरेश के लंड के चूत पर रगड़ने से पिंकी की चूत भी अब लंड को अन्दर लेने के लिए बेचैन होने लगी थी। वो भी बार बार गांड उठा कर लंड का स्वागत करने लगी थी।

थैंक्स भैया अचानक बाथरूम का दरवाज़ा खुला और कंचन ने नरेश के हाथ से टॉवल लेते हुए कहा । दरवाज़े के खुलते ही नरेश का गला सूखने लगा उत्तेजना के मारे उसका लंड उसकी पेण्ट फाडने के लिए उतावला हो गया और नरेश की आँखें कंचन के गोरी गोरी नंगी चुचियों को उसकी ब्रा से आधा बाहर देखते ही वहीँ की वहीँ अटक गयी ।

महेश-बहु मैं चाहता हूँ की अब जब भी तुम्हारी चुदाई करूँ अपना माल तुम्हारी चूत में ही गिराऊँ ताकि तुम माँ बन जाओ नहीं तो मेरे बेटे से तो कुछ होनेवाला नहीं है।सेक्सी व्हिडिओ दिखाव सेक्सी

नरेश ने अपनी माँ की बात सुनकर बिना देर किये उसकी पेंटी को खींचकर उसके चूतडों से अलग कर दिया । मनीषा ने भी अपने चूतडों को उठाकर अपने पेंटी उतारने में अपने बेटे की मदद की । वाह भाई उल्टा चोर कोतवाल को डांटे कंचन ने दोनों की बात सुनने के बाद उसकी तरफ देखते हुए कहा और शीला और कंचन ज़ोर से हंसने लगीं ।

दोपहर को ऑफिस में नीरज दाखिल हुआ और सीधे अनूप के ऑफिस में अा गया। अनूप उसे देखते ही हमेशा की तरह कुर्सी से खड़ा हो गया तो नीरज स्माइल करते हुए बोला:

माँ सच कहूँ तो मुझे रात को सपने में आपकी यह बड़ी बड़ी चुचियां और आपके यह बड़े बड़े चूतड़ दिखाई देते हैं । जिन्हें देखकर मेरा लंड तन जाता है विजय ने अपनी माँ की बात का जवाब बड़ी बेशरमी से देते हुए कहा।,ब्राझीलचा नकाशा मराठी नही बेटी ऐसे ठीक नहीं होगा मुझे अच्छे तरीके से ताज़ा दूध पीना है अनिल ने कंचन की बात को सुनकर जल्दी से कहा। वह अपनी पोती के जिस्म को इतना नज़दीक से देखने का यह मौका कैसे गँवा सकता था।

News