वीडियो सेक्स फुल मूवी

हृदयाचे कार्य काय आहे

हृदयाचे कार्य काय आहे, हाँ हम ठीक हैं, राहुल भी ठीक है, पूरी मस्ती कर रहा है, बहुत शरारती बन गया है आजकल, ऐसी ऐसी शरारतें करता है कि क्या बतायुं आपको, आप सुनाइए आप कैसे हैं? आपकी तबीअत तो ठीक है ना सूमी – सुनील को फोन कर देती है ….. उसे हनिमून सूट को तयार करवाने के लिए बोल देती है --- जो वो अपनी देख रेख में करवाएगा.

सूमी बस उसे देखती रह गयी और चुप चाप साथ चल पड़ी… उसकी आँखों में आँसू थे… इतना प्यार…उससे संभाले नही सम्भल रहा था. सुनील के माथे पे किस कर के बोली - आज लंच और डिन्नर बाहर से मंगवा लेना --- और जब तक मैं मिस कॉल ना दूं - तुम ना मुझे देखोगे ना ही मेरे करीब आने की कोशिश करोगे .

बिरजू उसके गालों को भर-भर के चूस-चूस कर चूमने लगा... लौंडिया गन-गना गयी.... हाई क्या करते हो भैया.... कोई ऐसा करता है अपनी बेहन से....और आहें भरने लगी..... हृदयाचे कार्य काय आहे बिरजू ने दोनो को अपने गले से लगा लिया..... बिरजू की आखों से आँसू निकल आए.... रवि को देख कर......कितना बड़ा हो गया रे तू......और बड़े प्यार से उसे चूमने लगा..... आख़िर थी तो उसी-की ही रचना.....और फिर उसने रवि को अपने गले से लगा लिया....

भाभी की चुदाई सेक्सी वीडियो हिंदी

  1. सोनल हैरानी से उसे देखने लगी ....वो ब्लॅक कॉफी तब ही माँगता था..जब बहुत टेन्षन में होता था...यानी अब भी कुछ बाकी था सुनील के जेहन में..
  2. मेरे मुँह की गर्मी और मेरी जीभ की हरकतो को दीदी की चूत सहन नहीं कर पायी और दीदी मेरे मुँह में ही झड़ गई उसका पूरा नमकिन पानी मैं पी गया। सेक्सी पिक्चर वीडियो देखने वाली
  3. मिनी का ये बदला हुआ रूप दो लोगों को बहुत अचंभित कर गया था सुमन और सोनल दोनो को ही .....वो लड़की जो कभी वासना का पुतला थी ...आज वो पूरे घर में प्यार बिखेर रही थी ...पर खुद प्यार के लिए तरस रही थी .... ‘ये अपना गुस्सा छोड़ वाइन की बॉटल ले के आ अभी साली साहिबा का दिमाग़ ठीक करता हूँ….. सवी इधर आ मेरे पास आ के बैठ – स्टॉप दिस स्टुपिडिटी'
  4. हृदयाचे कार्य काय आहे...कुवारि गुलाबी चूत देखता है तो उससे रहा नही जाता और वह उसकी चूत की फांको को फैलाकर अपनी जीभ को उसकी रसीली बुर मे रख कर अपने मूह मे भर लेता है और अलका जल बिन मछली की तरह तड़पने लगती है, रवि अलका की दोनो और फिर तो उंगली, फिस्टिंग...कया नहीं हो रहा था...और दूबे भाभी के यहां हुआ वो तो बस ट्रेलर था...मैने भी लाली ननद के बाद अपनी कमसिन ननदों को नहीं छोडा..सब कुछ किया करवाया। इसके बाद तो मर्दों से चुदवाना उनके लिये बच्चों का खेल होगा।
  5. सुनील ने खुद को सॉफ किया और हँसता हुआ बाथरूम से बाहर निकल गया ....और सुमन को अपनी तरफ खींच लिया .....उूुुुउउइईईईईईईई अरे ...दिल नही भरा क्या अभी ....सुमन हँसते हुए बोली... सूमी से बात करने के बाद सुनील को बहुत सकुन मिला था….वो फिर पढ़ने बैठने जा रहा था कि उसे याद आया …मिनी जाग रही होगी…और रात के 12 बज चुके थे….

बढ़िया वाला सेक्सी बीएफ

तभी किसी पत्थर पर पैर रखने से उसका बॅलेन्स बिगड़ गया....और वो गिरने लगी और उसने... रवि की बाहें पकड़ ली.....

सुनील कुछ देर रुका रहा और फिर फिर उसने धीरे से अपना लंड अंदर बाहर करना शुरू किया और साथ ही वो सुमन की क्लिट से भी छेड़खानी करने लगा. सुमन जा के सोनल का रूम नॉक करती है…..बाहर जाने के लिए बोलती है… पर सोनल मना कर देती है…कि आज उसे सोना है…

हृदयाचे कार्य काय आहे,विमल चला गया .........अंदर रूबी को भी होश आ गया था....वो कुछ खोई हुई सी लग रही थी....सुमन ने उसका अच्छी तरहा चेकअप कर उसे नींद का इंजेक्षन दे दिया...

हाँ बेटा ... क्या हुआ .. कुछ चाहिए क्या सलोनी के होंठो पर मुस्कान दौड़ गई थी, वो तो अब तक निराश हो चली थी |

दीदी ने साइड पर पड़ा दुपट्टा उठाया और उसे अपनी छाती पर डाल लिया और ग़ुस्से से बोली क्या कर रहे थे तुम मेरे रूम में मेरे साथ? शर्म नहीं आई तुम्हे आखिर हो क्या गया है तुम्हे कुछ दिनों से मुझे महसूस हो रहा है की तुम में बहुत चेंज आगया है।सेक्सी देहाती सेक्सी

अब आज का दिन यानी 15थ फेब-2015 सनडे का दिन ... ....सारा परिवार इंडिया पाकिस्तान को मोस्ट अवेटेड वर्ल्ड कप मॅच देख रहा है उम्म्मम्ह्ह्ह.......उम्म्मम्ह्ह्हह्ह.......उम्म्म्मम्म्म्हह्ह्ह्ह एक के बाद एक सलोनी राहुल के होंठो पर चुम्बन लेती है या कहिए देती है | जब राहुल और सलोनी अपन चेहरे वापिस खींचते हैं तो दोनों के होंठ ही नहीं चेहरे भी मुस्करा रहे थे | सलोनी राहुल के हाथ अपने हाथों में ले लेती है |

सोनल …नही अब वो अपने कमरे में ही खाएँगे …जब तक एग्ज़ॅम नही होते उन्हें डिस्टर्ब मत करना…कुछ पूछना हो तो मैं हू ना.

सुनील जब पढ़ के फ्री हुआ तो सोचने लगा – दी को कितना अजीब लगा होगा – कैसी वाहियात फिल्म थी – काश पता होता तो टिकेट बिल्कुल भी नही लेता उस फिल्म की.,हृदयाचे कार्य काय आहे सुनील लोगो से मिल के थक चुका था और फिर सोनल एक दीवार बन के खड़ी हो गयी की अब उसे आराम करना है जिसने भी मिलना हो बाद में मिले.

News