14723 कालिंदी एक्सप्रेस

मां बेटे की फोटो

मां बेटे की फोटो, मारने का मजा पूरा आ चुका था, मैंने उसे और तकलीफ़ ना देकर चूत चोदना ही बेहतर समझा। जैसे ही लण्ड गाण्ड से बाहर निकाला, कोमल ने जैसे चैन की सांस ली। फिर आंटी को अपने उपर बैठाया और वो मेरे उपर लंड को पकड़कर उपर नीचे होने लगी। 15 मीं. तक करता रहा। फिर मैं आंटी को एक टेबल के ऊपर बैठाया और उन की चूत मैं अपना लंड डाल कर शॉट मारा।

दोनो जैसे शिफ्ट मे खेल रहे हों. पहले विक्की फिर इंदु, फिर विक्की. विक्की उठा बिस्तर से और इंदु से पुछ्ता हुआ ... कुछ लेगी क्या... चारु उठ गई, उसकी गांड फट चुकी थी और वो मुझसे चिपक कर सो गई। सुबह 6 बजे मेरी नींद खुली तो चारु मेरे बिस्तर पर नहीं थी।

सूरज सोच रहा था की यदि तनु पुन: अपनी पढ़ाई पूरी कर ले तो शायद अच्छा परिवार मिल जाएगा और उसने जो सपने देखें हैं वह भी पुरे हो जाएंगे । गाँव में पैसो के कारण पढ़ न सकी लेकिन अब में तनु और पूनम दीदी को पढ़ा सकता हूँ अच्छे इंस्टिट्यूट में। मां बेटे की फोटो लड़की-' बात को संभालते हुए- वो क्या है न मेडम आप इधर उधर देख रही थी तो मुझे लगा शायद आपको ब्रा पेंटी चाहिए

हम साथ साथ हैं फुल मूवी हिंदी में

  1. होठ चूमते हुए गौरब उसे अपनी गोद मे उठाया और ले जा कर बिस्तर पर लिटा दिया. सैली बिस्तर पर लेटी तेज-तेज साँसे ले रही थी जिसकी गवाही उसकी उपर-नीचे होती चुचियाँ दे रही थी. वो तेज-तेज साँसें लेती बस गौरव को ही देख रही थी.
  2. डॉक्टर.... तुम्हारा एक्सीडेंट हो गया था, रास्ते पर पड़ी थी तो किसी ने तुम्हे अड्मिट कर दिया. तीन दिन से यहीं हो.... सेक्सी बीएफ एचडी में वीडियो
  3. ड्राइवर- मालिक बैठिए गाडी में ड्राइवर जैसे ही सूरज को मालिक बोलता है तनु सुन लेती है ।रेखा और पूनम दूसरी तरफ होते है इसलिए वो नहीं सुन पाते हैं । नैन..... मैं ना रोज तुम्हे, अपने घर की बाल्कनी से देखता हूँ. नज़रें बस तुम्हारे कमरे के दरवाजे पर टक-टकी लगाए ही रहती है... कब आएगी, कब आएगी ...... कूटी कब आएगी.
  4. मां बेटे की फोटो...सिंग साहब ने एक बार झाँका और बाहर चला गया... भावेश अंदर के कमरे से बाहर आता हुआ रोहन से पुच्छने लगा... अब क्या करेंगे.... थोड़ी देर बाद मैंने अपना सिर बाहर निकाला। अभी मैं सीधा भी नहीं हुआ था कि उसने मुझे खींच कर अपने ऊपर गिरा लिया और पागलों की तरह चूमने लगी। साथ ही साथ वो अपनी गाण्ड को उठाकर स्कर्ट के ऊपर से ही मेरे लण्ड पर रगड़ रही थी। मैंने अपनी लोअर नहीं उतारी थी फ़िर भी मुझे इतना मजा आ रहा था कि क्या बताऊँ।
  5. नैन.... मैं... तुमसे बात करता रहूँगा ... प्यार से मुस्कुराते हुए ... तबतक जबतक तुम विदा नही हो जाती.... कुछ देर बाद दोनो तैयार होकर निकले. आज तो नैन की नज़रें बस रीति पर ही थी, और रीति भी नैन को बड़े प्यार से देख रही थी. दोनो सबसे पहले मूवी गये... फिर देल्ही की सड़कों पर कुछ दूर बाहों मे बाहें थामे पैदल चले... और अंत मे डिन्नर कर के घर वापस चले आए....

20 साल की लड़की सेक्सी

ना पापा... ऐसा क्यों सोच रहे हैं आप? नहीं... अब मैं एक सम्पूर्ण औरत हूँ और आप एक सम्पूर्ण मर्द... हम वही कर रहे हैं जो एक मर्द और औरत के बीच में होता है।

और उसको उठा कर बेडरूम में ले गया और मैं बेडरूम में जाते ही चौंक गया, वहाँ देखा तो उसने पूरा बेड सजा रखा था, भीनी भीनी गुलाब की खुशबू आ रही थी और थोड़ी गुलाब की पंखुड़ियों को उसने बेड पर बिछा रखा था। इधर 12 बजे के करीब इंदु की आँखें खुली, थोड़ा भूख लगा था और दर्द भी सरीर मे हल्का हल्का हो रहा था, पहले वॉशरूम जाकर हॉट सावर ली, सरीर थोड़ा रिलॅक्स कर रहा था, अंदर आकर अपने बॅग से एक पेन किल्लर की टॅबलेट ले ली.

मां बेटे की फोटो,दोनों बहन पूनम और तनु प्रातः उठ कर माँ और अपने भाई के लिए भोजन बनाने में जुट जाती हैं । यह रोज की दिनचर्या में शामिल था।

अब नेहा के एक 3 साल का लड़का और 1 साल की लड़की भी है, और जब भी वो गाँव में आती है तो मैं भी गाँव में चला जाता हूँ!

अभी.... ये तो मेरा काम है, मैं नही मारता तो वो मुझे मारता. अब मार खाने से तो अच्छा है कि मैं ही मार लूँ.बीएफ सेक्सी दिखाई जाए

एग्ज़ॅम हॉल से निकलते ही गौरव ने सबसे पहले सैली को कॉल किया और उस से अपने हाल-ए-दिल बयान करने लगा. सैली भी अपनी सूरत-ए-हाल बयान करने लगी. दोनो इतना बात मे खोए थे कि गौरव भूल ही गया कि एग्ज़ॅम हॉल से निकलने के बाद नेनू भी साथ मे है. सैली की योनि मे जैसे ही जीभ गयी, मस्ती मे उसने अपने पाँव को रोहन के सिर से मोड़ कर उसे योनि पर पूरी ताक़त से दबाने लगी, और अपने हाथों को भावेश के सिर पर रख कर उसे भी अपने बूब्स पर रगड़ने लगी.

कुछ देर बाद मैंने उसके होंठ छोड़े और बिस्तर पर लेट गया और उसको भी अपने ऊपर ही लिटा लिया। लोअर में मेरा लण्ड खड़ा उसकी गाण्ड में घुसने की कोशिश सी कर रहा था। उसको भी बहुत मजा रहा था।

वो बोली- इस ऑफिस में मैं करीब 7 साल से हूँ। यहां रहते रहते सब सीख चुकी हूँ कि कौनसा चेहरा क्या बता रहा है।,मां बेटे की फोटो बहुत आवश्यक है, परिवर्तन प्रकृति का नियम है । इसलिए धीरे-धीरे सब कुछ सीखना है और खुद की बहन पूनम और तनु के लिए भी आगे शिक्षा के लिए स्कूल में दाखिला करवा दूंगा ।

News