बीएफ सेक्सी हॉट सेक्सी

झुरळ मारण्यासाठी घरगुती उपाय

झुरळ मारण्यासाठी घरगुती उपाय, मैंने लंड पीछे किया और अपने मुँह से थूक गिराया जो सीधे दीदी की गांड की लाइन पर गिरा और बहते हुए दीदी की गांड के छेद तक आ गया और जैसे ही थूक वहां आया तो मैंने लंड को छेद पर सेट करके जोर लगाया तो मेरे लंड का सुपाडा दीदी की गांड में घुस गया। सोनल को एक पल भी ये ख़याल नही आया कि वो तीनो इस वक़्त बालकोनी मे हैं और किसी की भी नज़र उनपे पड़ सकती है.

‘आओ बैठो तुम दोनो ….जो मेरे अपने हैं उनके लिए मैं एक खुली किताब हूँ ….मैं रूबी के अकेले भी बात कर सकता था….पर वो मुझे ठीक नही लगा….मैं चाहता था कि जो भी बात हो वो तुम दोनो के सामने हो …..क्या पता मेरी किसी बात को रूबी ना समझ पाए तो तुम दोनो भी तो उसे समझा सकती हो…….. सोनल ने रूबी के लिए डाइरेक्ट बॉम्ब फोड़ दिया था…उसे तो उम्मीद नही थी …की सुनील ने सोनल से ये बात शेर करी होगी .

दिन में एक बार ब्यूटी पार्लर से दो लड़कियाँ आई जिनके बारे में सुनील को पता नही चला - अपनी किताबों में खो गया था वो -- था ही ऐसा एक बार किताबें उठा ली तो सारी दुनिया भूल जाता था. झुरळ मारण्यासाठी घरगुती उपाय अरे मैं तुमसे बात कर रही हूँ, किसी और से नही…………..उउउफफफ्फ़……….हे भगवान कैसा लड़का है…….बस अपने लंड को खड़ा करना जानता है …………….चलो पहले खाना खाना है…..बाकी सब उसके बाद………. राहुल अभी भी चुप था |

मां और मौसी की चुदाई

  1. कुछ पल तो सुनील को यकीन ही नही हुआ कि सोनल ने अभी क्या किया. फिर उसने फट से अपने कपड़े उतारे और अंडरवेर में पानी में कूद पड़ा….. सोनल उसे कहीं नज़र ना आई …..घबरा गया वो………….चारों तरफ नज़रें घुमा रहा था वो पर सोनल का पता ही नही चल रहा था.
  2. सुबह जब जयंत उठा तो कमल सो रहा था….उसकी नज़र जब कमल पे पड़ी तो गाल पे खरॉच के निशान देखे….ये रातों रात …निशान कैसे आ गये उसके चेहरे पे….अभी वो कुछ और सोच ही पाता कि कॉलेज में कोहराम मच गया और वो उसी हालत में नाइट सूट पहने बाहर निकल गया. बिहारी बीएफ एचडी में
  3. सुमन को वो दिन याद आने लगे जब वो सुनील को सेक्स लेसन्स दे रही थी – उसके जिस्म में हलचल मचने लगी पर उसने खुद को काबू में कर लिया. ‘सुनील ये नही हो सकता – हम चारों एक दूसरे से जुदा नही हो सकते – हम एक ऐसे बंधन में बँध चुके हैं जिससे कोई तोड़ नही सकता’
  4. झुरळ मारण्यासाठी घरगुती उपाय...सब छिन गया है मुझ से – एक प्यारा दोस्त – एक प्यारी बीवी – पूरा परिवार छिन गया है मुझ से---और सुमन……..- सब रमण की वजह से. सलोनी एक बार लंड की घायल त्वचा को देखती है और फिर राहुल के सुंदर भोले चेहरे को जो दर्द के मारे आंसुओं से गिला होकर चमक रहा था | फिर वो अपने नर्म मुलायम होंठ लंड की घायल त्वचा पर रख देती है |
  5. ‘ मैं चाहता हूँ – सवी की शादी कर दी जाए – कोई अच्छा आदमी ढूंड के – रूबी मेरी ज़िम्मेदारी है – मेरी ही रहेगी’ ‘यही तो पंगा हो गया …. याद ही नही था कि ये ट्यूब है मेरे पास …. आज सुबह जब पॅकिंग करी तब मिली थी… उसके बाद वक़्त ही कहाँ मिला.

सोनम कपूर की सेक्स वीडियो

एक साया फिर लड़कियों के हॉस्टिल की तरफ बढ़ रहा था…………उसने फिर एक लड़की के कमरे को खटखटाया ……और फिर घृणात्मक कार्य हुआ …उसका लड़की का रेप कर फिर उसकी छाती में के गोद कर वो जैसे आया था वैसे गायब हो गया.

ओके दीदी मैं वादा करता हूँ की मैं ये सब किसी को भी नहीं बताऊँगा लेकिन मेरे आपको टच करने से क्या हो जाएगा दूसरे लड़के लड़कियां भी तो एक दूसरे की शादी से पहले और बाद में टच करते है फिर भले मेरे टच करने से क्या हो जाएगा मैं बोला। सूमी ….तू ग़लत सोच रही है…तेरी शादी से रूबी और कविता दोनो की शादी पे कोई असर नही पड़ेगा…मैं इस बात की ज़िम्मेदारी लेती हूँ….देख बात सिर्फ़ सेक्स की नही होती…औरत को एक मानसिक सहारा भी चाहिए होता है…एक साथ चाहिए होता है ….अकेले जीना बहुत मुश्किल हो जाता है.

झुरळ मारण्यासाठी घरगुती उपाय,'तुम बहुत सुंदर हो......' पहली बार सुनील के मुँह से सुमन के लिए तुम निकला था ---- दोनो की नंगी छातियाँ एक दूसरे में समाने की कोशिश करने लगी और अब सुमन आक्रामक हो गयी उसने सुनील के निपल चूसने शुरू कर दिए - मानो सुनील को बताने की कोशिश कर रही हो आगे उसने क्या करना है.

सुमन ...क्यूँ री ...हमे जीते जी मारना चाहती थी क्या ...क्या कमी है हमारे प्यार में जो तूने ऐसा कदम उठाया ....

सच कहूँ मैं सपना भी यही देख रही थी कि दीदी प्रेग्नेंट हो गयी है… है सच कितना मज़ा आएगा.. जब उसे अपनी गोद में लेकर झूले झुलाउन्गी.'हॉट लड़कियों के फोटो

सुमन बुरी तरहा कांप रही थी ...इसलिए नही कि जो हालत सामने आ गये थे ...परंतु इसलिए कि सुनील का ये रूप उसने कभी नही देखा था...पल को तो उसे ये ही लगा था कि अभी किसी शेर की तरहा उस शख्स को चीर फाड़ देगा ...... अहह उउउम्म्म्ममममम सुमन के होंठ खुलते सिसकियाँ छोड़ने के लिए पर पानी अंदर घुसता चला जाता….और वो फट से मुँह बंद कर लेती …..सुनील उसके वक्षों के साथ लगा रहा और सुमन सिसकियाँ लेती फिर फट से मुँह बंद कर लेती.

सुनील अपने आप से लड़ने लगा …. क्या जो वो अब सोच रहा है वो ठीक है क्या……. जो हो चुका था उसे बदल तो नही सकता…. एक ठंडी साँस ले कर उसने अपनी कॉफी ख़तम की और सोनल के पास जा कर लेट गया.

यहाँ सुमन कमरे मैं बैठी सोच रही थी और सुनील जो रात भर नही सोया था अपने कमरे में बॅग पॅक कर रहा था हॉस्टिल जाने के लिए.,झुरळ मारण्यासाठी घरगुती उपाय ‘अपनी तो किस्मेत चमक गयी – सुबह सुबह मिया जी के हाथ की बनी कॉफी मिल रही है’ सुमन – सुनील के साथ चिपक के बैठ गयी और कॉफी का कप उठा लिया.

News