পেলাপেলি সেক্সি

मोटर कार माहिती मराठी

मोटर कार माहिती मराठी, आरती बोली कि नही अब मैं ऐसा नही होने दूँगी,अब तो मैं तुम्हारे इस मोटे बंबू को अपनी चूत मे ले कर ही रहूंगी. मेरी उम्मीदों के विपरीत ये आवाज़ वन्दना की थी जो शरारती हसीं के साथ मुझे गोलगप्पे खाने को बुला रही थी।

‘चल तैयार होज़ा अब वो 10 मिनिट में आ जाएगा’ मैने डिज़िल्वा के सामने अपने कपड़े उतार दिए. डिज़िल्वा मेरे नंगे बदन को घूर रहा था. डिज़िल्वा ने मुझे बिस्तर पे लेटा कर मेरे हाथ सर के उपर फैला के बिस्तर के दोनो साइड पे बाँध दिए. फिर उसने मेरे पैर बाँध दिए. सीमा बोली, ठीक है। मैं सारा दर्द किसी तरह बर्दाश्त कर लुँगी। तू धरम से कह दे कि आज रात से मेरी गाँड मारना शुरु कर दे।

आरीए मर गैइइ...... मेरी पसलियाअ टूट गैईई.... बचाओ कोई मुझीई मेरी बुरर्र के चीथड़े उड़ा दियी.....आआआअ आ......एयेए माइ गैइइ आआआआआआआआआअ मेराअ निकल रहाआ हेयोयीयियैयियी आआ और मैं भी बिल्कुल कररीब आ गया सो मैने लंड को शिवानी की जड़ मे ठूंस दिया और वही से पिचकारी शिवानी की बुर मे छोड़ने लगा........ ...... मोटर कार माहिती मराठी बेचारे.... चाह के भी..... अब मैंने और बोल्ड हो के हाथ उनके पजामे में डाल के सुपाड़े को खोल दिया. पूरी तरह फूला और गरम था. उसे सहलाते-सहलाते मैंने अपने लंबे नाख़ून से उनके पी-होल(pee hole) को छेड़ दिया. जोश में आ के उन्होंने मेरे मम्मे कस के दबा दिए.

मदर एंड सन सेक्स वीडियो

  1. सरोज: देखा मेरे राजा चूत ऐसे चाटते है. अब तुजे मेरी चूत ऐसे ही चाटनी है. माया की छाती से खीचकर उसने मुझे अपनी नंगी छाती से चिपका कर मेंरे गले को चुमते हूँ ए दातो से मेरे कंधे और गले को काटा तो मेरा तना हूँ आ लाल चटक लवड़ा ९० डिग्री के ऊपर खड़ा हो गया. में कांप उठा…
  2. मैने कहा – अगर तुम नही गये तो तुम्हारी नौकरी तो गयी समझो, और इस सहर मैं मैं तुम्हे नौकरी भी नही मिलने दूँगा. सेक्सी पिक्चर सेक्सी एचडी
  3. सपना के जाने के बाद मनोहर भी सपना के पीछे-पीछे घर के बाहर चल देता है और यह सब नज़ारा बहुत देर से संध्या अपने रूम से देख रही थी, वह उठ कर संगीता के रूम मे जाती है और जैसे ही अंदर घुसती है उसे देख कर संगीता जल्दी से अपनी पेंटी के अंदर से अपने हाथ को बाहर निकाल लेती है, बताती हूँ तुझे... कह के मेरी सास ने एक झटके में मेरी ब्लाउज खींच के नीचे फेंक दिया. अब मेरे दोनों उरोज सीधे उनके हाथ में.
  4. मोटर कार माहिती मराठी...अमर अब तक उत्तेजित हो चुका था. बोला मैं तैयार हूं अपनी दोनों चुदैलों की कोई भी सेवा करने को, बस मुझे अपनी चूत का अमृत पिलाती रहो, चुदवाती रहो और गांड मराती रहो. खास कर इस नन्ही की तो मैं खूब मारूंगा. लेकिन सबसे ज्यादा तो मेरी ननद मेरे मुँह में...झड़ने के साथ दोनों ने फिर मेरा फेसियल किया मेरी चूचियों पे... और ननद ने पता नहीं क्या लगाया था कि अब 'जो भी' मेरी देह से लगता था...वो बस चिपक जाता था| घंटे भर मेरी दुरगत कर के हीं उन तीनों ने छोड़ा|
  5. फट जाने दो. नयी ला दूँगा. और अपनी बहन के दोनो अमरूद दबाने लगा. इस तरह की होली देख मुझे अजीब लगा. मैं समझ गयी कि रमेश रंग लगाने के बहाने मीना की चूचियों का मज़ा ले रहा है. उस रात सासूजी को मैंने सुबह 6 बजे तक 5 बार चोदा, अब वो इतनी खुश थीं कि खुशी उनके चेहरे पर झलक रही थी।

ब्लू फिल्म सेक्सी ब्लू फिल्म

तब तक मैंने देखा कि जेठानी ने एक पड़ोस की ननद को (मेरी छोटी बहन छुटकी से भी कम उम्र की लग रही थी, उभार थोड़े-थोड़े बस गदरा रहे थे, कच्ची कली)

मनोहर- संगीता जा हम तीनो के लिए चाइ बना ला यही बैठ कर चाइ पीते है तब तक मैं संध्या बेटी से कुछ बाते करना चाहता हू आप लोगों को ये मुफ्त का सिनेमा अछ्छा लगा कि नही. उसने अपनी चुची को सहलाया और कहा , बल्लु ने कितना मेहनत से मेरे बाडी को रंगा है.. मै आज ऐसे ही रहुंगी सिर्फ मुह साफ करना परेगा..

मोटर कार माहिती मराठी,जल्द ही वो गरम हो गयी, मैने उसको लोवर नीचे करने को कहा तो उसने कहा की क्या मैं अकेली ही कपड़े निकालुगी. तुम भी तो अपने कपड़े निकालो.

अब मनु का नज़रिया अपनी मा के प्रति बिल्कुल बदल गया था और वो उसको एक सेक्स की देवी नज़र आ रही थी,पर वो अपनी सोच से आगे नही बढ़ सकता था,क्यूंकी वो हिम्मत उसमें नही थी.

वो कसमसाती रही , मचलती रही , लेकिन चमेली भाभी की सँड़सी ऐसी पकड़ से आज तक कोई ननद निकल पायी है क्या ,जो वही निकलती।सेक्सी वीडियो सेक्सी बीएफ

ज़रा मीना की चूत चाटना और चूची दबाना बंद करो. मैं चूची से हाथ अलग कर चूत से जीभ निकाली तो उसने मेरी चूत को उंगलकी से कुरेदते पूचछा, मैं सोच भी नहीं सकती थी| एक पल के लिए तो गांड़ से निकले मेरे मुँह में जड़ तक घुसे लंड को भी भूल कर मैं देखती रही| वो कराह रही थी, उनके आँखों से दर्द साफ साफ झलक रहा था|

‘हहेहहे बहू. अब इतना सब होने के बाद मुझे दूर क्यूँ कर रही हो. आज पूरा दिन हैं हमारे पास. अभी तो मैं शुरू हुआ हूँ’ मैं ये बात सुनकर डर गयी. पता नहीं ससुरजी ने मेरे लिए क्या क्या प्लान बनाय होंगे. मेरा सारा बदन पसीने से लत्पथ हो गया था.

दूसरे दिन जब बापू खेत पर चले गये तो पल पल मेरे लिए भारी होने लगा. मैं बात देख रही थी कि कब खेत मैं खाना पाहूंचाने का सम'य आए और मैं अपने प्यारे बाबुल के पास पहून्च जाऊं. इन दिनों खेत की फसल मेरी हाइट से ऊँची हो गयी थी इसलिए कोई खेत में आसानी से दिखता नहीं था. मैने सोचा यह भी तो अच्छा ही है.,मोटर कार माहिती मराठी मैं बात उनसे कर रहा था.. लेकिन मेरी हरामी नज़रें.. उनकी चूचियों पर थीं, मैं देखना चाहता था कि वो कुछ प्रतिक्रिया करती हैं या नहीं।

News