இடுகையிடப்பட்டது

विधवा भाभी सेक्स

विधवा भाभी सेक्स, अब क्या बताऊ मेरे दोस्त की इस रिपोर्ट मे क्या है.. इस रिपोर्ट मे एक ऐसी बात लिखी हुई है जिससे इस पूरे केस का नक्शा ही बदल गया है.. में समझ गयी कि सिधार्थ को हर्ट हुवा है. मैं चुपचाप उसकी कार में बैठ गयी और यहा वाहा देखना बंद कर दिया.

मैने कहा, तुम समझते क्यो नही मैं शादी शुदा हूँ और अपने परिवार में खुश हूँ. मैं ये सब करके बहुत ज़्यादा गिल्ट से भर जाती हूँ, मैं घुट घुट कर नही जी सकती. मैने पहली बार संजय के अलावा किसी और का लिंग देखा था. उस लड़के के लिंग का साइज़ मेरी आँखो मे घूम रहा था. मैं हैरान थी कि इस लड़के का लिंग मेरे पति के लिंग से बड़ा क्यो लग रहा था.

पर कहते है कि भावनायें जब बहक जाती है तो कदमो को थामना मुस्किल हो जाता है, कुछ ऐसा ही मेरे साथ भी हुवा था. विधवा भाभी सेक्स उस दिन जब रिया मेरे पास सारे प्लान लेकर आई थी तो पहले मुझे इसमें बहुत बड़ी बुराई नज़र आई मगर फिर काफ़ी सोचने के बाद मैने हां कर दी थी.. स्नेहा ने मुस्कराते हुए कहा..

फ्री फायर डाउनलोड कैसे करें

  1. चरक जी ने कहा उच्च विचार है महाराज मैं और सेनापति विशाला अभी से इसी काम पे लग जाते हैं अब हमें आज्ञा दे
  2. मैं तुम्हें रोक रहा हूँ बिकॉज़ आइ लव यू.. रवि के मुह्न से ये बात निकालने की देर थी.. और चटाक़ की आवाज़ से पूरा वातावरण गूँज उठा.. रिया का एक ज़ोरदार तमाचा रवि के गाल पर पड़ा.. रवि के कानो मे सीटी बजने लगी... हॉलीवुड का सेक्सी वीडियो
  3. करीब दस मिनट तक ऐसे ही रहने के बाद मैं उठा और जल्दी से कपड़े बदलने लगा… लेकिन अब भी मैं यही सोच रहा था कि इतना सब होने के बाद मैं अब वंदना के साथ सहज रह पाऊँगा या नहीं.. और अभी तुरंत उसके साथ उसके दोस्त के घर पर जाना था… उसके साथ कैसे पेश आऊँगा या वो कैसे पेश आएगी.. कैसी बातें होंगी अब हमारे बीच?! जाने दूँगा, ज़रूर जाने दूँगा, पहले आप इस बात का जवाब दो कि मैं क्या मर गया था जो आप अजनबी लोगो के आगे अपना नाडा खोल कर झुक गयी, आपको पहले मुझे मोका देना चाहिए था, कसम से मैं आपकी सारी हवश मीटा देता ---- वो मेरी और देखते हुवे बोला.
  4. विधवा भाभी सेक्स...वो पिंकी को देखते हुवे अपने पेनिस को मसालने लगा और देखते ही देखते उशके घिनोने चेहरे पर अजीब सी मुश्कान बिखर गयी. मे अभी की बात सुन कर एक दम से घबरा गयी. जैसे ही मे उठ कर बैठी तो मेरी नज़र अभी के तने हुए लंड पर पड़ी. वो मेरी चूत के रस से एक दम भीगा हुआ था. मुझे समझ आ चुका था. कि ये मेरी चूत का रस है.
  5. अरे डरो नही.. ये करेंट नही मारती.. ये बस ये चेक करेगी कि तुम सच बोल रहे हो या झूठ.. और हां अगर ज़्यादा नौटंकी की तो अभी सीधे पोलीस स्टेशन ले चलेंगे तुम्हें.. इनस्पेक्टर जावेद ने कड़क आवाज़ मे कहा.. मैंने एक बार फिर से उसे समझाने के लिए उसके हाथों को जोर से पकड़ा और उसके चेहरे के पास अपना चेहरा ले जाकर धीरे से कहा- यह ठीक नहीं है वंदना… मान भी जाओ..देखो हमें देर भी हो रही है… और मैंने कहा न कि मैं दवा लगा लूँगा।

बीएफ फिल्म दिखाएं ब्लू

ईईईईईईईईईईई…..म्‍म्म्ममममन….न्‍न्‍ननननननननननननणणन् नूऊऊ…………..मर गयी, तुम कोई काम आराम से नही कर सकते क्या, अब मैं चुपचाप कर तो रही हूँ ------- पिंकी ने दर्द से चील्लने के बाद कहा.

पर फिर भी मुझ से रहा नही गया और मैने ऋतु को पीछे से बाहों में भर लिया और कहा, सॉरी जान आगे से ऐसा नही होगा. आगे से कभी लेट हुवा तो तुरंत तुम्हे फोन करके बताउन्गा, प्लीज़ मुझे माफ़ कर दो ऋतु ये सब कैसे हो गया, मुझे बिल्कुल विश्वास नही हो रहा. मैं समझ नही पा रहा हूँ कि कैसे रिक्ट करूँ ---- सिधार्थ ने मेरी ओर देख कर कहा.

विधवा भाभी सेक्स,वो हंसते हुवे बोला, इसे तू साजिस नही कह सकती, तू हर वक्त इसमे सामिल थी, हा तू ये ज़रूर कह सकती है कि तुझे बड़े प्यार से पटाया गया है, क्या तुझे नही लगता की तूने हर मोड़ पर हमारा साथ दिया है ?

इस बात को झुटलाना बहुत मुस्किल था कि बिल्लू के होन्ट मेरी योनि पर मुझे ना चाहते हुवे भी बहुत प्यारा सा अहसाश दे गये थे. ये ऐसा अहसाश था जिशे मैने अभी तक अपनी शादी शुदा जिंदगी में भी महसूस नही किया था.

वो बोला, तुम अगर बुरा ना मानो तो मैं तुम्हारा नाडा खोल दूं. तेरी चूत और मेरे होंटो के बीच ये सलवार मज़ा खराब कर रही है.राजधानी वीडियो चार्ट

मे ठिंकू के साथ उसके रूम मे आ गया…मेने टीशर्ट और शॉर्ट्स निक्केर पहना हुआ था…गर्मी के वजह से मेने नीचे अंडरवेर नही डाला हुआ था…मे और ठिंकू उसके बेड पर लेट गये…रूम मे 0 वाट का बल्ब जल रहा था…अभी हम लेटे ही थे, कि नीता रूम मे आ गयी…और हम दोनो के बीच मे बेड पर लेट गयी….मेरा दिल जोरों से धड़कने लगा… ऐसे मे किसी की नींद कैसे पूरी हो सकती है…इसलिए वो यहीं सो गयी…शायदा कल रात से बहुत थक गई होंगी…मे ये सोच कर बेड पर आकर बैठ गया…और पीछे नीलम मामी के गदराए हुए मस्त बदन को देखने लगा

मैने ओशो की मॅडिटेशन प्रॅक्टिसस के बारे में काफ़ी शुन रखा था. पर कभी किशी जगह जा कर ट्राइ नही किया था.

वो आदमी वाहा से नही हटा, और रिक्शे के साथ-साथ चलता रहा. कितना घिनोना, चेहरा था उसका. उसे देख कर ही, उल्टी आने को हो रही थी, और ऐसा आदमी मेरे बारे मे ऐसी गंदी बाते कर रहा था, सब कुछ बर्दस्त के बाहर था. उस आदमी की हिम्मत बढ़ती ही जा रही थी, वो मेरी तरफ गंदे गंदे इशारे करने लगा.,विधवा भाभी सेक्स है तो वो इसी ट्रेन मे.. मगर मिल नही रही.. ढूँढते रहो, बच कर जाएगी कहाँ. एक रौबदार आवाज़ आई जिसे सुनकर बहुत सारे लोगों की नींद खुल गयी..

News